महाराष्ट्र विधानमंडल का मानसून सत्र अगस्त तक स्थगित

 10 Jun 2020  796

मुंबई, (10 जून 2020)- सरकार ने विधानमंडल का मानसून सत्र 3 अगस्त तक टालने का फैसला किया है। यह सत्र पहले 22 जून से शुरू होना था। सरकारी सूत्रों ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण सत्र को टालने का फैसला किया गया है। सूत्रों ने बताया कि सत्र मुंबई में होगा और यह चार से पांच दिन का होगा। उन्होंने बताया कि मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में चर्चा हुई थी। अंतिम फैसला दोनों सदनों की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक के बाद बुधवार को लिया जाएगा। गौरतलब है कि बीएमसी के उपायुक्त शिरीष दीक्षित की सोमवार देर रात अचानक तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। आशंका जताई जा रही है कि कोरोना की वजह से उनकी मौत हुई है। सूत्रों के मुताबिक, दीक्षित की मौत के बाद जांच में रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। दीक्षित को कोरोना के लक्षण नहीं थे। दीक्षित बीएमसी के जल आपूर्ति विभाग में चीफ इंजीनियर थे। हालांकि, बीएमसी ने अभी तक इस पर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। उनके परिवार के तीन सदस्यों को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। बीएमसी में किसी बड़े अधिकारी की कोरोना संक्रमण से यह पहली मौत है। बता दें कि बीएमसी ने मुंबई में दुकानदारों को और राहत दी है। अब फुल टाइम दुकानें खोलने की इजाजत दी गई है। बीएमसी के सर्कुलर के अनुसार, सभी बाजारों, बाजार के इलाकों, दुकानों और मार्केट कॉम्प्लेक्सों को उनके पूरे कामकाजी घंटों में खोलने की इजाजत दी जाती है। इसके लिए पहले तय की गई शर्तें लागू रहेंगी। इससे मानसून के मौसम में लोगों को जरूरी खरीददारी करने का अतिरिक्त समय मिलेगा। बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि पहले की तरह रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। इस दौरान दुकानें बंद रखनी होंगी। दुकानदार चाहें, तो सुबह साढ़े 5:30 बजे से रात 8:45 बजे तक दुकानें खुली रख सकते हैं। रविवार को साप्ताहिक बंदी रहेगी।मीरा-भाईंदर में शिवसेना के एक नगरसेवक की कोरोना से मौत हो गई। वह दो हफ्ते से ठाणे के एक निजी अस्पताल में इलाज करा रहे थे। मुंबई में 8 जून तक 2,33,570 लोगों का टेस्ट हो चुका है। वरिष्ठ नागरिकों में संक्रमण के ज्यादा केस मिलने से बीएमसी घरों में जाकर जांच कर रही है। अब तक 18,11,766 लोगों की घरों में पहुंचकर जांच की गई। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए मुंबई की 4,071 बिल्डिंगों को सील किया गया। 775 चॉल और स्लम के क्षेत्र कंटेंनमेंट जोन में अब भी बने हुए हैं। मुंबई. राज्य में बुधवार सुबह तक संक्रमण के 2,259 नए केस सामने आए। इसके साथ कुल मरीजों की संख्या 90,787 हो गई। राज्य में 24 घंटे में 120 मरीजों की जान गई। इनमें 80 पुरुष और 40 महिलाएं थीं। 60 साल से ज्यादा उम्र के 62 मरीज, 40 से 59 साल के 47 और 40 साल से कम उम्र के 11 लोगों की मौत हुई है। अब तक कोरोना से 3,289 मरीजों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को राज्य में 1,663 लोगों को स्वस्थ होने पर घर भेज दिया गया। अब तक 42,638 मरीज ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में मुंबई में कोरोना के 1,015 नए केस मिले। बीएमसी के अनुसार, मुंबई में मरीजों की संख्या 50,878 हो गई। इनमें से 22,942 मरीज ठीक होकर घर भेज दिए गए हैं। मंगलवार को 904 लोगों को ठीक होने पर घर भेजा गया। संक्रमण से दिन में 58 मरीजों की जान गई। अब तक कुल 1,758 मरीजों की मौत हुई है। कोरोना से निपटने के लिए राज्य सरकार ने आयुर्वेदिक, होम्योपैथी और यूनानी चिकित्सा पद्धति अपनाए जाने वाले उपायों की मंजूरी दे दी। केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने 'टास्क फोर्स ऑन आयुष फॉर कोविड-19' गठित किया था। इस टास्क फोर्स ने कोरोना फैलाव को रोकने और हल्के लक्षणों वाले मरीजों के तुरंत उपचार के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसको राज्य सरकार ने मंजूरी दी है। विशेष निर्देशों में कहा गया है कि कोरोना से बचने के लिए मरीजों को ताजा, गरम, हल्का और सुपाच्य भोजन करना चाहिए। भोजन में अंकुरित अनाज और मौसमी सब्जियां जरूर शामिल करें। निर्देश में यह साफ किया गया है कि इन दवाओं का इस्तेमाल सिर्फ वैद्यों, होम्योपैथी और यूनानी डॉक्टरों की सलाह से ही किया जाना चाहिए। बंबई हाईकोर्ट ने मंगलवार को केंद्र सरकार से कहा कि वह एन-95 मास्क की कीमत तय करने की नीति पर पुनर्विचार करे ताकि कोविड-19 महामारी के दौरान यह लोगों की पहुंच में रहे और इसकी जमाखोरी नहीं हो। मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति एस एस शिंदे की पीठ ने कहा कि केंद्र सरकार आवश्यक वस्तुओं के कीमतों को लेकर कानून को संज्ञान ले और उसके अनुरूप एन-95 मास्क की अधिकतम कीमत तय करे। अदालत ने इससे पहले केंद्र से यह स्पष्ट करने को कहा था कि क्या एन-95 मास्क की अधिकतम कीमत तय करने की उसकी कोई योजना है या नहीं।