बीसीसीआई के सीईओ को राहत, #Metoo के आरोपों से हुए बरी

 21 Nov 2018  1084

मुंबई, (21 नवंबर 2018)- बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी ने यौन उत्पीड़न के मामले में तीन सदस्यीय जांच समिति से आरोपमुक्त होने के बाद कहा कि पिछले छह सप्ताह उनकी जिंदगी का सबसे मुश्किल समय था। जौहरी ने बीसीसीआई में अपना कामकाज संभालने के बाद पीटीआई से कहा, 'मैं आज अपने कार्यालय में लौट आया हूं और सभी सहयोगियों ने गर्मजोशी से मेरा स्वागत किया। पिछले डेढ़ महीने मेरे और मेरे परिवार के लिए काफी कठिन रहे हैं। मैं चाहूंगा की जो मैंने झेला है वैसा किसी के साथ ना हो।' ऐसी भी खबरें थी की जौहरी ने इन आरोपों के बाद इस्तीफा सौंप दिया है, लेकिन उन्होंने इसे सिर्फ अफवाह करार दिया। 

►राहुल जौहरी ने कहा- मुझे भगवान पर पूरा भरोसा था     
राहुल जौहरी ने कहा, 'यह पूरी तरह से बकवास है, मैंने आज से अपना कामकाज संभाल लिया है और संस्था के सीईओ के तौर पर अपनी जिम्मेदारियां निभाउंगा।' बीसीसीआई के इस सीईओ ने कहा कि जांच आयोग के समक्ष जब वह पेश हुए तो उन्हें उनके परिवार का भी पूरा साथ मिला। उन्होंने कहा, 'मेरी पत्नी सीमा और दोनों बेटे मेरी कानूनी टीम के साथ बैठे थे। वे मेरे बचाव का हिस्सा थे। अगर मुझे परिवार और दोस्तो का साथ नहीं मिला होता तो मेरे लिए मानसिक तौर पर यह लड़ाई लड़ना मुश्किल होता। मुझे हमेशा से भगवान पर भरोसा था कि मैं इस मामले में पाक साफ होकर निकलूंगा।' जांच समिति ने जौहरी को सभी आरोपों में दोष मुक्त करार दिया है।