36 हजार के पार पहुंचा सेंसेक्स और 11 हजार के पार पहुंचा निफ्टी

 12 Jul 2018  864

 बात टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के शेयरों की करें तो परिणाम उम्मीद से बेहतर रहे। तिमाही नतीजों से आईटी कंपनियों के शेयर मांग में रहे। जिससे बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 26 अंक चढ़कर 36,265.93 अंक पर अपने रिकार्ड स्तर के करीब पहुंच गया। सेंसेक्स 29 जनवरी को 36,283.25 अंक के रिकार्ड स्तर पर पहुंचा था। इस तरह चार कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 691.38 अंक की बढ़त दर्ज कर चुका है। टीसीएस का शेयर आज 5.47 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 1,979.60 रुपये पर पहुंच गया। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में टीसीएस में सबसे अधिक लाभ दर्ज हुआ। टीसीएस का जून तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 23.4 प्रतिशत बढ़ा है। देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक कंपनी के नतीजे कल आए थे। टीसीएस के उम्मीद से बेहतर तिमाही नतीजों से बीएसई का आईटी सूचकांक 2.38 प्रतिशत चढ़ गया। ब्रोकरों ने कहा कि तिमाही नतीजों की बेहतर शुरुआत से घरेलू निवेशकों की धारणा मजबूत हुई। इससे कमजोर वैश्विक रुख की भरपाई हो सकी है। अमेरिका ने कहा है कि वह चीन के 200 अरब डॉलर के आयात पर शुल्क लगाएगा जिससे एशियाई बाजारों में गिरावट का रुख रहा। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मजबूती के रुख से खुलने के बाद 36,362.30 अंक के उच्चस्तर तक गया। हालांकि, मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से यह 36,169.70 अंक के स्तर तक नीचे आया। अंत में सेंसेक्स 26.31 अंक या 0.07 प्रतिशत की बढ़त के साथ 36,265.93 अंक पर बंद हुआ।नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.05 अंक या 0.01 प्रतिशत के लाभ से 10,948.30 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,976.65 से 10,923 अंक के दायरे में रहा। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कल शुद्ध रूप से 293.96 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। वहीं विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 20.73 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘आईटी सूचकांक में सुधार से बाजार सकारात्मक दायरे में रहा। हालांकि, अमेरिका व चीन के बीच व्यापार को लेकर तनाव बढ़ने से बाजार का लाभ सीमित रहा।’नायर ने कहा कि पहली तिमाही के नतीजे बेहतर रहने की उम्मीद और कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से बाजार की मौजूदा स्थिरता कायम रहेगी। मानसून की प्रगति तथा ऊंचे न्यूनतम समर्थन मूल्य की वजह से उपभोग वाले उद्योगों को फायदा होगा।’सेंसेक्स के अन्य लाभ वाले शेयरों में बजाज आटो 2.11 प्रतिशत, हिंदुस्तान यूनिलीवर 1.59 प्रतिशत, इन्फोसिस 1.37 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 1.03 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 0.76 प्रतिशत, अडाणी पोर्ट्स 0.72 प्रतिशत, कोटक बैंक 0.71 प्रतिशत तथा विप्रो 0.65 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं दूसरी ओर कोल इंडिया का शेयर 4.59 प्रतिशत टूट गया। वेदांता में 3.52 प्रतिशत, टाटा मोटर्स में 2.74 प्रतिशत, टाटा स्टील में 2.24 प्रतिशत, एसबीआई में 1.75 प्रतिशत, भारती एयरटेल में 1.69 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक में 1.66 प्रतिशत, मारुति सुजुकी में 1.49 प्रतिशत और हीरो मोटोकार्प में 1.43 प्रतिशत की गिरावट आई। बीएसई मिडकैप में 0.67 प्रतिशत तथा स्मॉल कैप में 0.33 प्रतिशत की गिरावट आई। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 1.19 प्रतिशत, सिंगापुर 0.79 प्रतिशत और शंघाई कम्पोजिट 1.76 प्रतिशत के नुकसान में रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार ऊपर चल रहे थे।